fbpx

जी भरके जियो

२६ मई, २०१८
हमारा जीवन एक यात्रा के समान है जिसका हमें पूरा आनंद लेना चाहिए। यात्रा का अंत तो समाप्ति है और हमें यह मानके चलना चाहिए कि जीवन के अंत के लिए तो एक लम्बा अरसा है।
ये निश्चित है कि जीवन का सफर तो एक दिन खत्म होना ही है, उसे बदलना हमारे बस में नहीं है किंतु इसके हर एक पल को खुल के जीना हमारे बस में है।
जगजीत साहब की ग़ज़ल की एक बहुत ही खूबसूरत लाइन है। ‘ ना उम्र की सीमा हो ना जन्म का हो बंधन ‘ उन्होंने ये प्यार के बारे में कहा था मगर मेरी नज़र में ‘ काम ‘ को लेकर भी यही होना चाहिए कि आप अपनी हॉबी या अपने उस हुनर को ( जो ज़िम्मेदारियों के बोझ तले कहीं दब गया था ) वापस जगाइए। कोई फर्क नहीं पड़ता कि अब आपकी उम्र क्या है बस सबकुछ भूल के पूरे जोश के साथ शुरू कर दीजिए वो काम जो कभी आपका ‘ सपना ‘ हुआ करता था, या फिर वो कार्ये जिसमें आपको दिलचस्पी हुआ करती थी।
खोजो, समझो, जानो और सीखो। कहते हैं सीखने की भी कोई उम्र नहीं होती। अभी भी बहुत सी ऐसी चीज़ें  हैं जिनके बारे में हमें जानने की ज़रूरत है या हमें जाननी चाहिए। यह सिर्फ और सिर्फ हम पे निर्भर करता है कि हम आखिर में क्या करना चाहते है और जिस दिन इसका जवाब मिल जाये तो बस वहीं से आपका एक नया सफर शुरू होगा, एक ऐसा सफर जिसकी आपने कभी कल्पना भी नहीं कि होगी।
आपको आश्चर्य होगा उस वक़्त जब आप स्वयं की खोज में निकलेंगे, तब आप खुद महसूस करेंगे कि आपके सामने अनगिनत अवसर आपकी बुद्धिमत्ता की प्रतीक्षा कर रहे है।
शुक्र है कि आज हमारे पास इतनी टेक्नोलॉजी है जिसकी वजह से हम पूरी दुनिया से जुड़े हुए हैं जहाँ किसी भी चीज के बारे में जानना या सीखना बस चुटकियों का काम है।
हम अपने आप को बेहद खुशकिस्मत समझेंगे, अगर हम अपने पुराने दिनों और उस वक़्त को आज से तुलना करें। हम करीब से महसूस कर पाएंगे कि आज हमारे पास कितनी सारी सुविधाएं हैं और पहले की तुलना में हमारा जीवन काफी सहज और आसान हो गया है।
क्या हम अभी भी एक तार वाले टेलीफोन के साथ रहने की कल्पना भी कर सकते हैं, जहां हमें हर एक नम्बर के लिए उसे अंगुली से घुमाकर डायल करना पड़ता था!
हमारे द्वारा उपयोग किए जाने वाले सभी संसाधनों का उपयोग हमें सृजनात्मक व्यवसायों में भी लेना चाहिए।
हमें नहीं भूलना चाहिए कि टेक्नोलॉजी, संसाधन बिल्कुल भी ‘ कल्पनाशील ‘ नहीं हो सकते हैं। ये सिर्फ मानव के असाधारण सोच की उपज हैं। हालांकि टेक्नोलॉजी ने हमें अपने काम को सहज, सुगम और साथ ही ये हमारी रचनात्मक गतिविधियों को पूरा करने में बहुत सहयोग देता है।
इसलिए यह बहुत महत्वपूर्ण है कि हम सभी नई सुख – सुविधाओं और इस टेक्नोलॉजी से भरे युग का भरपूर उपयोग करें और जीवन शैली को और बेहतर बनाने की कोशिश करें।
हमें सच मे इसकी जरूरत है, उन सारे अवसरों को पूरा करने के लिए, जो हमे सिर्फ टेक्नोलॉजी की वजह से मिले हैं।
हम सब जीवन की एक मात्र यात्रा कर रहें हैं और यहाँ हमारे लिए ये बेहद जरूरी है कि हम इस यात्रा को खूबसूरत और यादगार बनाएँ ।
जैसा कि किसी ने कहा है-
खुशी
कोई आँखरी मंजिल नहीं है, यह एक यात्रा है।
यह कोई कल नहीं है, यह आज है ।
यह निर्भरता नहीं है, यह एक निर्णय है।
यह वही है जो आप हैं, ना कि जो आपके पास है।
– नामरहित